बागवानी ब्लॉग मुख्य ख़बर

नवंबर महीने में बेहतर उत्पादन देने वाली 10 फसलें

best vegetable crop for winters
Did you enjoy this post? Please Spread the love ❤️

नवंबर का महीना किसानों के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि ये वो समय होता है जब किसान रबी की फसल का चुनाव कर उसे खेतों में लगाता है और खरीफ की कटाई कर उसे बेचता भी है। किसानों के लिए फसल उत्पादन में मौसम का अहम योगदान है, मौसम का सीधा प्रभाव किसानों की जिंदगी पर पढ़ता है। फसल के उत्पादन के लिए भी मौसम खास होता है।

फूलगोभी की खेती (Farming of Cauliflower)

फूलगोभी की अगेती किस्मों की रोपाई के लिए अच्छा समय जून और जुलाई होता है। वहीं पिछेती किस्मों के लिए सितंबर और अक्टूबर से नवंबर का पहला सप्ताह रोपाई के लिए खासा माना जाता है।

पत्तागोभी की खेती (Cabbage Farming)

पत्ता गोभी की खेती का सही समय सितंबर से अक्टूबर का होता है, लेकिन नवंबर में भी इसकी खेती की जा सकती है। आमतौर पर पत्ता गोभी फसल की अवधि 60-120 दिन होती है।

टमाटर (Tomato Farming)

टमाटर की खेती लगभग पूरे भारत में की जाती है। देश के उत्तरी मैदानों में शरद और बसंत ऋतु में इसकी दो फसलें ली जाती हैं। वहीं दक्षिणी भारत में टमाटर की 3 फसलें ली जाती हैं, जिनकी बुवाई जून-जुलाई, अक्टूबर-नवंबर और जनवरी-फरवरी में होती है।

चुकंदर (Beetroot Farming)

ठंडे मौसम में चुकंदर की फसल काफी अच्छी उगती है। इसलिए चुकंदर की फसल को उगाने का सबसे अच्छा समय सर्दियों का है। वैसे चुकंदर की खेती पूरे साल ही की जा सकती है, लेकिन सर्दी के मौसम में उगाई गई फसल काफी अच्छी मानी जाती है और इसमें मीठे की मात्रा भी भरपूर होती है।

शलगम (Turnip Farming)

शलगम को सर्दियों में उगाया जाता है। शलगम अधिक ठंड और पाले को सहन करने की क्षमता रखता है। इसलिए इसकी खेती सर्दियों में की जाती है। शलगम की फसल 50-55 दिनों में तैयार हो जाती है।

मूली (Radish Farming)

मूली की खेती मैदानी और पहाड़ी दोनों इलाकों में की जाती है। मैदानी इलाकों में इसकी बुवाई सितंबर-जनवरी तक की जाती है। जबकि पहाड़ी इलाकों में इसे अगस्त तक बोया जाता है।

पालक (Spinach Farming)

पालक की खेती पूरे साल की जा सकती है। लेकिन पालक की बुवाई के लिए अक्टूबर से अप्रैल तक का समय काफी अच्छा रहता है। ये एक ऐसी फसल है, जो कम समय और कम लागत में अच्छा मुनाफा देती है। पालक की एक बार बुवाई करने के बाद उस की 5-6 बार कटाई की जा सकती है।

शिमला मिर्च (Capsicum Farming)

शिमला मिर्च को साल में 3 बार बोया जा सकता है। पहले जून से जुलाई, दूसरा अगस्त से सितंबर और तीसरा नवंबर से दिसंबर तक बुवाई की जाती है। शिमला मिर्च की अच्छी फसल लेने के लिए कम से कम 21 से 25 डिग्री तक का तापमान अच्छा होता है। ज्यादा पाला गिरने से इस फसल को काफी नुकसान होता है। इसलिए इसे पाले से बचाना जरूरी होता है।

मटर (Pea Farming)

मटर की खेती अक्टूबर-नवंबर में की जाती है जो काफी उपयुक्त होती है।

धनिया (Coriander Farming)

धनिया की फसल रबी के मौसम में बोई जाती है। धनिया की बुवाई का सबसे अच्छा वक्त 15 अक्टूबर से 15 नवंबर है। धनिया की सामयिक बोनी लाभदायक है। दानों के लिए धनिया की बुवाई का सही वक्त नवंबर का पहला हफ्ता होता है।

और पढ़ें …

छत पर करें ऑर्गेनिक खेती, सब्जियां मिलेंगी, हेल्थ भी सही रहेगी

अनानास की खेती से कमा रहे हैं लाखों का मुनाफा , 2 एकड़ में लगाया है अनानास

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.