घरेलू नुस्खे बड़ी खबर ब्लॉग

डेंगू और मलेरिया फैलने के कारण, लक्षण और बचाव

Symptoms of Dengue and Malaria
Did you enjoy this post? Please Spread the love ❤️

भारत में हर साल डेंगू और मलेरिये के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है, इनमें से कुछ की तो मौत तक हो जाती है। डेंगू के बुखार को हड्डी तोड़ बुखार भी कहा जाता है, जो स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होता है। मच्छर के जरिए फैसले वाला ये बुखार कभी-कभी घातक भी साबित होता है। इसके तीव्र लक्षण कभी-कभी कुछ समय बाद देखे या महसूस किए जाते हैं, हालांकि अगर इसकी समय पर पहचान कर ली जाए तब इससे बचाव या इलाज करने में मदद मिल सकती है। अक्सर डेंगू के लक्षण सामान्य फ्लू या वायरल बुखार से मिलते-जुलते होते हैं, इसलिए सही पहचान के लिए तुरंत ब्लड टेस्ट करवाना चाहिए।

डेंगू के क्या हैं लक्षण ? (Symptoms of Dengue)

1. मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द होना।

2. शरीर पर पड़ने वाले लाल निशान जो कुछ समय बाद ठीक होने के बाद दोबार वापस भी आ जाते हैं।

3. ठंड लगने के साथ अचानक तेज बुखार (High Fever) आना।

4. बहुत तेज़ सिर में दर्द (Headache) होना।

5 आंखों के पीछे दर्द रहना।

6. उल्टी आना और चक्कर महसूस होते रहना।

7. ज्यादा कमजोरी होना, भूख में कमी आना और जी मिचलाना, मुंह का स्वाद खराब होना।

अगर आप इनमें से कोई भी लक्षण महसूस करते हैं तो तुरंत सलाह के लिए डॉक्टर के पास जाएं और इलाज करवाएं। केवल एक अच्छा डॉक्टर ही डेंगू से बचाव के बारे में आपको बता सकता है।

मलेरिया कैसे होता है ?

मलेरिया बुखार मच्छरों से होने वाला एक तरह का संक्रमण है। जो मादा एनोफिलीज मच्छर के काटने से होता है। इस मादा मच्छर में एक खास तरह का जीवाणु पाया जाता है जिसे डॉक्टर्स की भाषा में प्लाज्मोडियम कहा जाता है। मलेरिया से पीड़ित लोग शायद ही इस बात को जानते हैं कि मलेरिया फैलाने वाली मादा मच्छर में जीवाणु की 5 जातियां होती हैं। इस मच्छर के काटते ही इंसान के शरीर में प्लाज्मोडियम नामक जीवाणु एंटर कर जाता है। जिसके बाद वो पीड़ित के शरीर में पहुंचकर उसमें कई गुना वृद्धि कर देता है। ये जीवाणु लिवर और रक्त कोशिकाओं को संक्रमित कर इंसान को बीमार बना देता है। समय पर इलाज ना मिलने पर ये मलेरिया जानलेवा भी हो सकता है।

मलेरिया बुखार के लक्षण (Symptoms of Malaria)

1. अचानक सर्दी लगने के साथ कंपकंपी होना।

2. गर्मी लगने के साथ तेज बुखार आना।

3. पसीना आकर बुखार कम होना और कमजोरी महसूस होना।

4. शरीर में दर्द और उल्टी आना मलेरिया के प्रमुख लक्षण हैं।

 

डेंगू और मलेरिया से बचाव के उपाय (Measures to prevent dengue and malaria)

1. अपने घरों में और आसपास कूलर, AC, गमलों और टायर में पानी जमा ना होने दें।

2. पानी की टंकियों को सही तरीके से ढ़ककर रखें।

3. खिड़की और दरवाजों में जाली लगवाएं।

4. दिन में 2 बार घर के सभी कोनो में काले हिट का छिड़काव करें।

5. मच्छर से बचाव के लिए शरीर को ज्यादा ढ़कने वाले कपड़े पहने।

6. फ्रिज के नीचे रखी हुई पानी इकट्ठा करने वाली ट्रे को खाली करते रहें।

7. ताजा बना भोजन का सेवन करें, बासी भोजन ना खाएं।

8. बाजार से लाए कटे हुए फल ना खाएं।

9. बाजार में खाद्य पदार्थों का सेवन ना कर घर की बनी चीजे खाएं

10. अधिक ठंडा पानी या पेय पदार्थों का सेवन ना करें।

11. बुखार होने पर डॉक्टर की सलाह से जांच और इलाज कराएं।

 

स्वास्थ्य से जुड़े घरेलु नुस्खों ले लिए पढ़ें 

पपीते के पत्ते हैं डेंगू का रामबाण इलाज, रिसर्च में भी हुआ दावा… पढ़ें पूरी ख़बर

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.