मुख्य ख़बर

सरकारी केंद्रों पर किसानों की फसल खरीद में पारदर्शिता, मिलेगी गेहूं की मात्रा व गेहूं के मूल्य की प्रिंटेड रसीद तत्काल

Anaz Mandi
Did you enjoy this post? Please Spread the love ❤️

गेहूं की फसल किसानों के खेत में तैयार हो चुकी है और देश के विभिन्न राज्यों में सरकारी केंद्रों पर इसकी खरीद भी शुरू हो चुकी है. गेहूं खरीद में धांधली और गड़बड़ी की आशंका समाप्त करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार अब ई-पॉप मशीनों का इस्तेमाल कर रही है. गेहूं की खरीद में इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट ऑफ परचेज (ई-पॉप) डिवाइस का प्रयोग करने वाला यूपी अब देश का पहला राज्य बन गया है. इस मशीन की मदद से किसानों को उनके आनाज का भुगतान सीधे उनके खाते में मिलेगा.

इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट ऑफ परचेज (ई-पॉप) मशीन से खरीद करने पर किसानों को कुल तौल की गई गेहूं की मात्रा व गेहूं के मूल्य की प्रिंटेड रसीद तत्काल दी जाएगी. इस काम पर सरकार तेजी से काम कर रही है. राज्य के विभिन्न जनपदों जैसे कि मुरादाबाद, बरेली, रामपुर, बुलंदशहर, आगरा आदि में सरकार पहले ही ई-पॉप मशीन के माध्यम से खरीद प्रारम्भ कर चुकी है.

कोरोना के चलते खरीद केंद्रों पर कोविड़ गाइडलाइन्स का पालन करने के निर्देश भी दिए गए हैं. केंद्रों पर ऑक्सीमीटर, इंफ्रारेड थर्मामीटर, हैंड सैनिटाइजर इत्यादि की व्यवस्था भी की जा रही है. भीड़ इकट्ठी न हो इसके लिए राज्य सरकार ने पहले से ही ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने की व्यवस्था कर रही है. जिसके तहत, टोकन नंबर के हिसाब से किसान अपनी बारी आने पर खुद केंद्र पहुंच कर गेहूं बेच सकेंगे.

https://eproc.up.gov.in/Uparjan/Home_Reg.aspx पर आप अपनी फसल के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं.

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.